मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें?

मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें?


  • Diabetes एक ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर छोड़ती नहीं। Diabetes बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष(Bad Effects) वह यह कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों(Disease) को भी निमंत्रण देती है।
मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें?

Diabetes: आजकल के इस भागदौड़ भरे युग में अनियमित Lifestle के चलते जो बीमारी सर्वाधिक लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रही है वह है DiabetesDiabetes को धीमी मौत भी कहा जाता है। यह ऐसी बीमारी(Disease) है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर(Life Time) छोड़ती नहीं। इस बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष वह यह है कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों(Diseases) को भी निमंत्रण देती है। Diabetes रोगियों को आंखों में दिक्कत, किडनी और लीवर की बीमारी और पैरों में दिक्कत होना आम है। पहले यह बीमारी चालीस(40 Years) की उम्र के बाद ही होती थी लेकिन आजकल बच्चों में भी इसका मिलना चिंता का एक बड़ा कारण हो गया है।

Diabetes कैसे होता है


जब हमारे शरीर के पैंक्रियाज में इंसुलिन का पहुंचना कम हो जाता है तो खून में Glucose का स्तर बढ़ जाता है। इस स्थिति को Diabetes कहा जाता है। इंसुलिन एक हार्मोन है जोकि पाचक ग्रंथि द्वारा बनता है। इसका कार्य शरीर के अंदर भोजन को Energy में बदलने का होता है। यही वह हार्मोन होता है जो हमारे शरीर में शुगर की मात्रा को Control करता है। मधुमेह हो जाने पर शरीर को भोजन से Energy बनाने में कठिनाई होती है। इस स्थिति में Glucose का बढ़ा हुआ स्तर शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान(Effects) पहुंचाना शुरू कर देता है।
(Diabetes संबधित आयुर्वेदिक दवाई के लिए यहाँ क्लिक करें)

यह रोग महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में अधिक होता है। Diabetes ज्यादातर वंशानुगत और जीवनशैली बिगड़ी होने के कारण होता है। इसमें वंशानुगत को Diabetes Type -1 और अनियमित जीवनशैली की वजह से होने वाले Diabetes को Diabetes Type -2 श्रेणी में रखा जाता है। पहली श्रेणी के अंतर्गत वह लोग आते हैं जिनके परिवार में माता-पिता, दादा-दादी में से किसी को Diabetes हो तो परिवार के सदस्यों को यह बीमारी होने की संभावना अधिक रहती है। इसके अलावा यदि आप शारीरिक श्रम कम करते हैं, नींद पूरी नहीं लेते, अनियमित खानपान है और ज्यादातर Fast Food और मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं तो Diabetes होने की संभावना बढ़ जाती है।

बड़ा खतरा


Diabetes के मरीजों में सबसे ज्यादा मौत Heart attack या स्ट्रोक से होती है। जो व्यक्ति Diabetes से ग्रस्त होते हैं उनमें हार्ट अटैक का खतरा आम व्यक्ति से पचास गुना ज्यादा बढ़ जाता है। शरीर में Glucose की मात्रा बढ़ने से हार्मोनल बदलाव होता है और कोशिशएं क्षतिग्रस्त होती हैं जिससे खून की नलिकाएं और नसें दोनों प्रभावित होती हैं। इससे धमनी में रुकावट आ सकती है या Heart attack हो सकता है। स्ट्रोक का खतरा भी Diabetes रोगी को बढ़ जाता है। Diabetes का लंबे समय तक इलाज न करने पर यह आंखों की Retina को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे व्यक्ति हमेशा के लिए अंधा भी हो सकता है।

मधुमेह के लक्षण


-ज्यादा प्यास लगना
-बार-बार पेशाब का आना
-आँखों की रौशनी कम होना
-कोई भी चोट या जख्म देरी से भरना
-हाथों, पैरों और गुप्तांगों पर खुजली वाले जख्म
-बार-बर फोड़े-फुंसियां निकलना
-चक्कर आना
-चिड़चिड़ापन

Diabetes से बचाव के यह कुछ उपाय :-

मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें?


# अपने Glucose स्तर को जांचें और भोजन से पहले यह 100 और भोजन के बाद 125 से ज्यादा है तो सतर्क हो जाएं। हर तीन महीने पर HbA1c Test कराते रहें ताकि आपके शरीर में शुगर के वास्तविक स्तर(Current Status) का पता चलता रहे। उसी के अनुरूप आप Doctor से परामर्श कर दवाइयां लें।
# अपनी जीवनशैली(Lifestyle) में बदलाव करें और शारीरिक श्रम करना शुरू करें। जिम नहीं जाना चाहते हैं तो दिन में तीन से चार किलोमीटर तक जरूर पैदल चलें या फिर योग करें।
# कम Calories वाला भोजन खाएं। भोजन में मीठे को बिलकुल खत्म कर दें। सब्जियां, ताज़े फल, साबुत अनाज, डेयरी उत्पादों और Omega-3 वसा के स्रोतों को अपने भोजन में शामिल कीजिये। इसके अलावा फाइबर(Fiber) का भी सेवन करना चाहिए।
# दिन में तीन समय(3-times) खाने की बजाय उतने ही खाने को छह या सात बार में खाएं।
# धूम्रपान(Cigrate) और शराब(Wine) का सेवन कम कर दें या संभव हो तो बिलकुल छोड़ दें।
# Office के काम की ज्यादा टेंशन(Pressure) नहीं रखें और रात को पर्याप्त नींद लें। कम नींद सेहत के लिए ठीक नहीं है। तनाव को कम करने के लिए आप ध्यान लगाएं या संगीत(Music) आदि सुनें।
# नियमित रूप से Health की जांच कराते रहें और शुगर लेवल को रोजाना Monitor करें ताकि वह कभी भी लेवल से ज्यादा नहीं हो। एक बार शुगर बढ़ जाता है तो उसके लेवल को नीचे लाना काफी मुश्किल काम होता है और इस दौरान बढ़ा हुआ शुगर स्तर शरीर के अंगों पर अपना बुरा प्रभाव(Bad Effects) छोड़ता रहता है।

(Diabetes संबधित आयुर्वेदिक दवाई के लिए यहाँ क्लिक करें)

# गेहूं और जौ 2-2 Kg की मात्रा में लेकर 1 Kg चने के साथ पिसवा लें। इस आटे की बनी चपातियां ही भोजन में खाएं।
# Diabetes रोगियों को अपने भोजन में करेला, मेथी, सहजन, पालक, तुरई, शलगम, बैंगन, परवल, लौकी, मूली, फूलगोभी, ब्रौकोली, टमाटर, बंद गोभी और पत्तेदार सब्जियों को शामिल करना चाहिए।
# फलों में जामुन, नींबू, आंवला, Tomato, Papaya, खरबूजा, कच्चा अमरूद, संतरा, मौसमी, जायफल, नाशपाती को शामिल करें। आम, केला, सेब, खजूर तथा अंगूर नहीं खाना चाहिए क्योंकि इनमें शुगर ज्यादा होता है।
# मेथी दाना रात को भिगो दें और सुबह प्रतिदिन(Daily morning) खाली पेट उसे खाना चाहिए।
# खाने में बादाम, लहसुन, प्याज, अंकुरित दालें, अंकुरित छिलके वाला चना, सत्तू और बाजरा आदि शामिल करें तथा आलू, चावल और मक्खन का बहुत कम उपयोग करें।
मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें? मधुमेह(Diabetes) क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? कैसे बचें? Reviewed by Beautyhealthcares on January 10, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.