Pet aur Kamar ki Charbi kam Karne ke Upay in Hindi


पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay)

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay)
पेट और कमर पर जमा जरूरत से ज्यादा चर्बी(Fat) चिंता का विषय है। यह न सिर्फ दिखने में खराब लगती है, बल्कि इसके कारण थायराइड(Thyroid), बीपी(Blood Pressure) व शुगर जैसी कई बीमारियां भी हो सकती हैं। Beauty Health Care के इस लेख के जरिए हम जानेंगे कि पेट की चर्बी कैसे घटाएं(Pet kam Karne Ke Upay)। इसके लिए, हम कारगर Exercise, योग व आहार के बारे में बताएंगे, जो पेट की चर्बी(Pet Ki Charbi) को कम करने में मदद कर सकते हैं। इन सभी चीजों का फायदा तभी है, जब इन्हें Regular रूप से किया जाए। एक-दो दिन करके इसे छोड़ देने से Benefits की जगह नुकसान(Side Effects) भी हो सकता है।

विषय सूची

इससे पहले कि हम कमर और पेट कम करने(Pet Ko Kam Karne ke upay) के उपायों की चर्चा करें, उससे पहले हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि आखिर इस समस्या के पीछे मुख्य कारण क्या हैं।


पेट पर चर्बी जमा होने के कारण – Causes of Belly Fat in Hindi

पेट पर थोड़ी-बहुत चर्बी(Fat) होने को सामान्य माना जाता है। कहा जाता है कि अगर यह कमर व पेट पर निश्चित मात्रा में हो, तो यह कुशन की तरह हमारी हड्डियां की सुरक्षा(Boon Protect) करती है। साथ ही शरीर के अंदरुनी अंग अच्छी तरह से काम कर पाते हैं। वहीं, अगर यह चर्बी जरूर से ज्यादा होती है, तो कई बीमारियों से जूझना पड़ सकता है। यहां हम पेट पर अतिरिक्त चर्बी(Extra Fat) के प्रमुख कारणों के बारे में आपको बताएंगे।

आनुवंशिक : वैज्ञानिकों के शोध(Scientist Experiments) के अनुसार, शरीर में कुछ फेट सेल आनुवंशिक तौर पर विकसित होते हैं। अगर किसी के परिजन इस परेशानी से ग्रस्त रहे हैं, तो आने वाली पीढ़ी को भी यह Problem होने की आशंका रहती है।

खराब गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रक्रिया : उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमारा Digestive System भी कमजोर होने लगता है। साथ ही गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम भी प्रभावित होने लगता है। इस कारण से भी पेट की चर्बी(Pet Ki Charbi) बढ़ सकती है।
हार्मोन में बदलाव : आमतौर पर हार्मोन(Harmon) बदलाव का सामना महिलाओं को करना पड़ता है। जब वह अपने जीवन के मध्य पड़ाव (करीब 40 के आसपास) में पहुंची हैं, तो शरीर के वजन के मुकाबले चर्बी(Charbi) तेजी से बढ़ती है। वहीं, मेनपॉज यानी रजोनिवृत्ति के दौरान एस्ट्रोजन हार्मोन(Astrogen Harmon) का स्तर कम और एंड्रोजन हार्मोन(Androgen Harmon) का स्तर ज्यादा हो जाता है। यही कारण होता है कि कमर के आसपास की चर्बी(Charbi) अधिक हो जाती है।
तनाव : तनावग्रस्त(Tension Life) शख्स एक के बाद एक कई बीमारियों से घिरता चला जाता है। शरीर में चर्बी का बढ़ाना भी उन्हीं में से एक है। तनाव(Tension) के कारण रक्त में कोर्टिसोल का स्तर अधिक हो जाता है। कोर्टिसोल शरीर में वसा(Fat) का स्तर बढ़ा देता है, जिससे वसा कोशिकाएं(Fat Cells) बड़ी हो जाती हैं। आमतौर पर इस स्थिति में चर्बी(Charbi) पेट के आसपास ही बढ़ती है।
अन्य बीमारियां : कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं, जिनकी चपेट में आने से बढ़ते वजन(weight) का शिकार होना पड़ सकता है। खासकर महिलाओं में यह समस्या ज्यादा होती है। महिलाओं को अगर शुगर, Breast cancer व ह्रदय की कोई बीमारी या फिर उच्च रक्तचाप है, तो कमर व पेट के आसपास चर्बी(Charbi) बढ़ने की आशंका ज्यादा रहती है।
मांसपेशियों में ढीलापन : जब पेट के आसपास की मांसपेशियां ढीली होने लगती हैं, तो हो सकता है कि उस जगह की चर्बी(Charbi) बढ़ना शुरू हो जाए।
बैठकर काम करने की आदत : Modern जमाने में हमारा जीवन इतना आसान हो गया है कि हमने शारीरिक गतिविधियां(Physical Activity) करना ही बंद कर दिया है। हम अपना हर काम बैठे-बैठे ही करने की कोशिश करते हैं, फिर चाहे Office में हों या फिर घर में। समय निकालकर Exercise करने की जगह, हम TV देखना या फिर Computer पर काम करना ज्यादा पसंद करते हैं। परिणामस्वरूप हमारे शरीर में चर्बी(Charbi) का स्तर बढ़ने लगता है।

कम प्रोटीन, ज्यादा कार्बस : हम दिनभर में क्या कुछ नहीं खाते। कभी-कभी तो काम के दबाव या फिर तनाव में जरूरत से ज्यादा खा(Excess Eating) जाते हैं। वहीं, खाते समय पोषक तत्वों(Proteins) पर भी ध्यान नहीं देते। स्वाद के चक्कर में हम ऐसी चीजें खा लेते हैं, जिनमें प्रोटीन(Protein) कम और कार्बस व फैट ज्यादा होता है। फिर एक ही जगह बैठकर काम करते रहते हैं। इस तरह से भी कमर व पेट के आसपास चर्बी(Charbi) बढ़ने लगती है।
अब आप जान गए होंगे कि शरीर में चर्बी(Charbi) बढ़ने के अहम कारण क्या-क्या हैं। आइए, अब जानते हैं कि पेट कम कैसे करें(Pet kam karne ke upay)।

पेट और कमर की चर्बी कम करने के लिए व्यायाम – Exercises to Reduce Belly Fat in Hindi

कुछ लोगों के पेट व कमर के आसपास Charbi इतनी ज्यादा हो जाती है कि वो चाहकर भी अपने पसंदीदा कपड़े नहीं पहन पाते हैं। कई बार ऐसे लोगों को दूसरों के सामने उठते-बैठते हुए हीनभावना का शिकार होना पड़ता है, क्योंकि उनके पेट की चर्बी(Pet ki charbi) कपड़ों से साफ नजर आती है। इस तरह के लोग हमेशा इस सोच में डूबे रहते हैं कि पेट की चर्बी कैसे घटाएं(pet kam kaise karen)। ऐसे में जरूरी है कि ऐसे लोगों को नियमित व्यायाम(Regular Exercise) करना चाहिए। यहां हम कुछ ऐसे Exercise बता रहे है, जिन्हें करने से आपको जरूर लाभ होगा।


सबसे पहले हम कार्डियो एक्सरसाइज(Cardio Exercise) (ह्रदय के लिए) के बारे में बात करते हैं :


1. दौड़ना
शरीर को चुस्त व दुरुस्त रखने के लिए Running से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। दौड़ लगाने से जहां ह्रदय(Heart) अच्छे से काम कर पाता है, वहीं अतिरिक्त कैलोरी बर्न(Extra Calories Burn) होती है और धीरे-धीरे चर्बी(Charbi) भी कम होने लगती है। शुरुआत में कुछ मीटर ही दौड़ें और तेज की जगह धीरे-धीरे दौड़ें। जब शरीर इसका अभ्यस्त हो जाए, तो अपनी गति और समय दोनों में वृद्धि(Increase) कर सकते हैं।

2. तैराकी(Swimming)
इससे भी शरीर में अतिरिक्त जमा वसा(Extra Fat) कम होनी शुरू होती है। तैराकी करना ह्रदय(Heart) के लिए भी अच्छा है। तैराकी करने से न सिर्फ वज़न कम(Weight Loss) होता है, अपितु शरीर बेहतर शेप में आ जाता है। आप इसे Week में एक या दो बार कर सकते हैं। अगर आपने पहले कभी तैराकी(swimming) नहीं की है, तो इसे किसी Trainer की देखरेख में ही करें।

3. साइकलिंग(Cycling)

इसे सबसे बेहतर व आसान कार्डियो एक्सरसाइज(Cardio Exercise) (ह्रदय के लिए) माना गया है। इससे जहां, पैरों, टांगों वह जांघों की अच्छी Exercise हो जाती है, वहीं शरीर की अतिरिक्त चर्बी(Extra Fat) व कैलोरी(Calories) भी बाहर निकल जाती है।

4. पैदल चलना
अगर कोई ऊपर दी गई तीनों गतिविधियों को नहीं करना चाहता, तो रोज सुबह-शाम आधा घंटा पैदल जरूर चले। इससे भी शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी(Extra Fat) कम होने लगती है। संभव हो, तो तेज कदमों से चलना चाहिए। पेट कम करने के उपाय(pet kam karne ke upay) में इसे आसान और सुरक्षित माना गया है।

5. वेट ट्रेनिंग(Weight Training)

अगर जिम जाने का समय नहीं है, तो वेट ट्रेनिंग(Weight Training) एक्सरसाइज कर सकते हैं। वहां भार उठाने वाले Exercises करने से न सिर्फ शरीर को आकर्षक शेप मिलेगी, बल्कि Digestive System भी मजबूत होगी। ध्यान रहे कि जिम में Weight Training सिर्फ पेशेवर ट्रेनर की देखरेख में ही करें।

योगासन भी पेट कम करने के उपायों(Pet kam karne ke upay) में से एक है। आगे हम कुछ योगासनों के बारे में बता रहे हैं :

1. सेतुबंध योगासन
पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay

इस आसन को करने से पेट व कमर के पास जमा चर्बी(Charbi) को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही पेट व जांघों की Muscles मजबूत होती हैं। अगर किसी की गर्दन में दर्द(Neck Pain) या फिर खिंचाव महसूस हो रहा है, तो इस आसन को करने से वह भी ठीक हो सकता है। इतना ही नहीं अगर गलत तरीके से बैठने के कारण रीढ़ की हड्डी(Backbone) एक तरफ झुक गई है, तो यह आसन उसे भी ठीक कर सकता है।

करने का तरीका :

  • जमीन पर योग मैट(Yog Mate) बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं और दोनों घुटनों को मोड़ें व एड़ियों को कूल्हों के साथ सटा लें।
  • इसके बाद दोनों हाथों(Both Hand) से एड़ियों को पकड़ लें।
  • अब सांस लेते हुए कमर को ऊपर की ओर उठाएं, जबकि पैरों(Foot) व हाथों(Hands) को उसी स्थिति में रहने दें।
  • कुछ 30 Second इसी अवस्था में रहें और सामान्य गति से सांस लेते रहें।
  • इसके बाद सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था(Normal Stage) में आ जाएं।
  • इस आसन से 4-5 Round किए जा सकते हैं
सावधानी : उच्च रक्तचाप(High Blood pressure) से ग्रसित लोगों को यह आसन नहीं करना चाहिए।

2. कपालभाती :
पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay

Motapa Kam
करने के लिए इस योगासन को सबसे ज्यादा फायदेमंद माना गया है। कहा जाता है कि इसके परिणाम जल्द ही देखने को मिलते हैं। इसे नियमित रूप से करने पर कब्ज(Kabz), गैस व एसिडिटी(Acidity) जैसी समस्याएं गायब हो जाती हैं। पेट की नसें मजबूत होती हैं और पाचन तंत्र(Digestive System) भी अच्छे से काम करता है।

करने का तरीका :

  • जमीन पर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं और आंखें बंद(Eye Closed) कर लें।
  • एक लंबी गहरी सांस लें और छोड़ दें।
  • अब धीरे-धीरे नाक(Nose) के जरिए सांस को बाहर छोड़ें। जब आप सांस बाहर छोड़ेंगे, तो आपका पेट(Pet) अंदर की ओर जाएगा।
  • ध्यान रहे कि इसे करते हुए मुंह को बंद(Mouth Closed) रखें। सांस को सिर्फ छोड़ना है। सांस लेने की प्रक्रिया अपने आप होगी
  • Daily इस आसन के Five Round सुबह-शाम खाली पेट करने से लाभ(Benefits) होगा।
सावधानी(Caution) : सुबह खाली पेट ही यह आसन करना चाहिए और इसे करने के आधे घंटे बाद(Before 30 Minutes) ही कुछ खाना चाहिए। अगर शाम को कर रहे हैं, तो खाना खाने के पांच घंटे बाद करें। गभर्वती महिला(Pregnant women) को इसे नहीं करना चाहिए।
3. अनुलोम-विलोम प्राणायाम :
पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay

बेशक Anulom-Vilom आसन करने में आसान है, लेकिन मोटापा कम(Motapa Kam) करने में कारगर है। मुख्य रूप से इसे नाड़ी शोधन प्राणायाम भी कहते हैं। इससे शरीर में रक्त का प्रवाह(Blood Circulation) ठीक से होता है।

करने का तरीका :


  • जमीन पर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं और आंखें बंद(Eye Closed) कर लें।
  • अब दाएं हाथ(Right Hand) के अंगुठे से दाएं तरफ की नासिका छिद्र को बंद कर दें और बाईं नासिका से सांस लें।
  • अब दाएं हाथ(Left Hand) की सबसे छोटी व उसके साथ की उंगली से बाएं तरफ की नासिका को बंद कर दाईं तरफ से सांस को धीरे-धीरे छोड़ें।
  • अब इसी स्थिति में रहते हुए सांस को अंदर खींचे और फिर दाईं तरफ(Right Side) से नाक को बंद कर बाईं तरफ(Left Side) से सांस को छोड़ें।
  • इस तरह के चक्र क्षमतानुसार 4 से 5 बार किए जा सकते हैं।
सावधानी : उच्च रक्तचाप(High BP) व ह्रदय के रोगी को प्रशिक्षित योग गुरु से सलाह लेकर व उनकी देखरेख में इसे करना चाहिए। साथ ही इसे कभी जोर से या तेज गति से नहीं करना चाहिए।

4. बालासन :
पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay

पेट की चर्बी(Pet Ki Charbi) कैसे घटाएं में बालासन भी शामिल है। इस आसन को करते समय स्थिति मां के कोख में पलने वाले भ्रूण की तरह होती है। इसलिए, इसे बालासन योग कहा जाता है। बालासन करने से पेट की मासपेशियां(Muscles) मजबूत होती हैं। इसे रोज करीब 10 Minutes करने से पेट अंदर हो सकता है।

करने का तरीका :

  • सबसे पहले वज्रासन(Vajrashan) यानी आप घुटनों के बल बैठ जाएं और पूरा वजन(Weight) एड़ियों पर डालें।
  • अपनी कमर को सीधा(Straight) रखते हुए सांस लेते हुए हाथों(Hands) को सीधा ऊपर ले जाएं।
  • अब सांस छोड़ते(Exhale) हुए आगे की तरफ झुक जाएं।
  • कोशिश करें कि आपका सिर(Head) जमीन से लग जाए और हाथ सीधे(Hand Straight) रखें।
  • कुछ Second इस स्थिति में रहते हुए सामान्य गति से सांस लेते रहें और फिर सांस लेते हुए उठ जाएं।
सावधानी(Caution) : अगर पीठ में दर्द हो या फिर घुटनों का Operation हुआ हो, तो यह आसन न करें। साथ ही, जिन्हें दस्त हो, वो भी यह आसन न करें।

5. नौकासन :
पेट और कमर की चर्बी कम करने के आसान उपाय – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi(Pet kam Karne ke Upay

कमर और पेट कम करने के उपायों में यह आसन फायदेमंद है। इसे करने से छोटी आंत, बड़ी आंत और Digestive system बेहतर हो जाता है।

करने का तरीका :

  • सबसे पहले पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं और एड़ियों व पंजों को आपस में मिला लें।
  • दोनों हाथ(Both Hand) कमर के साथ सटे होने चाहिए और हथेलियां जमीन की ओर होनी चाहिए।
  • पहले एक लंबी गहली सांस लें और फिर सांस छोड़ते(Exhale) हुए दोनों पैर(Foot), हाथ व गर्दन को सामांतर ऊपर की तरफ उठाएं, ताकि शरीर का पूरा भार कूल्हों पर आ जाए।
  • इस स्थिति में करीब 30 Second रहें और सामान्य रूप से सांस लेते रहें। इसके बाद धीरे-धीरे सांस लेते हुए सामान्य अवस्था में आ जाएं।
सावधानी(Caution) : जिन्हें कमर व पेट संबंधी कोई गंभीर रोग हो, उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए। साथ ही गर्भवती महिलाओं(Pregnant women) को भी इस आसन से परहेज करना चाहिए।

हम यह जान चुके हैं कि किस तरह के Exercise करने से वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। अब समय है, यह जानने का कि खानपान में क्या शामिल करें कि पेट पर चर्बी(Pet Par Charbi) न जम पाए।

पेट की चर्बी कम करने के लिए क्या खाएं और क्या न खाएं – Diet Tips to Get Flat Tummy in Hindi

अगर खान-पान को संतुलित न रखा जाए हैं, तो फिर जितनी भी Exercise व योग कर लें, पेट की चर्बी(Pet Ki Charbi) कम नहीं होगी। इसलिए, एक नजर डालते हैं कि मोटापा कम(Weight Loss) करने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं :

सुबह उठते ही : सुबह उठने के बाद करीब दो गिलास गुनगुना पानी(Two Glass Of Warm Water) पिएं, ताकि पेट साफ हो जाए। शौच से निवृत होने के बाद एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू(Lemon) मिलाकर पिएं। जिन्हें शुगर है, वो नींबू पानी में चीनी न मिलाएं और जिन्हें उच्च रक्तचाप(High BP) है, वो बिना नमक के पिएं। वैज्ञानिक शोध(Scientist Experiment) में साबित हुआ है कि नींबू पानी पीने से वजन कम(Weight Loss) होता है।

नाश्ते से पहले : नाश्ता(Break fast) करने से 15 मिनट पहले करीब 5-6 बादाम खाएं। इन बादाम को रात भर पानी में भिगोकर रखें और सुबह छिलके उतारकर खाएं। बादाम(Badam) खाने से शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं। बादाम में Fiber होता है, जो भूख को मिटाता है।

नाश्ता : कम फैट वाले दही के साथ एक चपाती खा सकते हैं। इसकी जगह दो Brown Bread भी ले सकते हैं, जिस पर बादाम वाला Butter लगा सकते हैं। इनकी जगह एक कटोरी ओट्स(Oats) भी खा सकते हैं। साथ ही Protein युक्त आहार का सेवन कर सकते हैं।

दो घंटे बाद : सुबह समय पर नाश्ता(Breakfast) कर लेने के बाद 11 बजे के आसपास कोई भी Fruits खा सकते हैं या फिर विभिन्न फलों की सलाद बनाकर भी खा सकते हैं।

दोपहर का खाना : खाने से पहले सब्जियों की सलाद जरूर खाएं। सलाद खाने से शरीर को अतिरिक्त फाइबर(Extra Fibber) मिलता है। इसके बाद एक या दो रोटी(Bread= और साथ में मिक्स सब्जी(Mixed Vegetable) ले सकते हैं। अगर नॉन वेज खाते हैं, तो मछली का एक टुकड़ा ले सकते हैं। कोशिश करें कि खाना एक बजे तक खा लें।
शाम को : Dinner से पहले शाम करीब पांच बजे एक फल या फिर एक गिलास बिना Cream वाला दूध पी सकते हैं। इनके अलावा, Green-Tea या फिर नारियल पानी भी पी सकते हैं।

रात का खाना(Dinner) : Dinner हमेशा हल्का होना चाहिए और आठ बजे तक कर लेना चाहिए। Dinner में बिना बटर(Without Bitter) के वेज या फिर चिकन सूप ले सकते हैं। इसके बाद सब्जी(Vegetable) के साथ एक या दो रोटी ले सकते हैं।

इनसे बनाएं दूरी :
शक्कर युक्त व डिब्बाबंद(Packed) खाद्य पदार्थ खाने से बचें।
Starch युक्त खाद्य पदार्थ जैसे:- Rice, Nudles, पास्ता और Bread। इनकी जगह Brown Rice व Brown Bread का सेवन करना चाहिए।
तंबाकु(Tobacco), शराब व सिगरेट से परहेज करना चाहिए।
आगे हम कुछ और जरूरी टिप्स दे रहे हैं, जिनकी मदद से पेट की चर्बी(Pet Ki Charbi) को कम किया जा सकता है।

पेट और कमर की चर्बी के लिए कुछ और टिप्स – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

आइए, बात करते हैं कुछ अन्य टिप्स के बारे में, जिन्हें अपनाने से आपके शरीर की अतिरिक्त चर्बी(Extra Fat) छूमंतर हो सकती है।

संतुलित मात्रा में खाएं : दिनभर में तीन बार पेट भरकर खाने से हमारा Digestive system ठीक से काम नहीं कर पाता। इसलिए, हर दो से तीन घंटे में थोड़ा-थोड़ा खाते रहें।

अधिक पानी पिएं(Drink Exces Water) : दिनभर में 8-10 गिलास पानी पीना सेहत के लिए जरूरी है। पानी तभी नहीं पीना चाहिए, जब प्यास लगी हो या फिर गला सूख रहा हो। हर तय समय पर थोड़ा-सा पानी पीना चाहिए। पानी पीने से Over Eating की आदत कम हो सकती है।

नाश्ता न भूलें : जितना जरूरी सांस लेना है, उतना ही जरूरी नाश्ता(Breakfast) है। कुछ लोग सोचते हैं कि नाश्ता(Breakfast) नहीं करने से वजन कम(Weight Loss) होता है, जबकि ऐसा नहीं है। उल्टा नाश्ता न करने से हमारी भूख बढ़ती है और हम ज्यादा खा लेते हैं, जिससे वजन बढ़ने(Weight Increase) की समस्या पैदा हो सकती है।

ग्रीन-टी(Green Tea) : इसमें Anti- Oxidants गुण पाया जाता है, जो Motapa व चर्बी(Charbi) घटाने में सहायक सिद्ध होता है। इसलिए, दिनभर में कम से कम एक कप ग्रीन-टी(Green-Tea) पी सकते हैं।

पोटैशियम(Potassium) युक्त खाद्य पदार्थ : Avocado, केला, पपीता, आम व खरबूजे में भरपूर मात्रा में Potassium पाया जाता है, जो शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता और वजन कम(Weight Loss) करने में मदद करता है।

फल व सब्जियां : दिनभर में थोड़ी-थोड़ी मात्रा में फल व सब्जियों(Vegetables) का सेवन करते रहना चाहिए। इससे भूख कम लगेगी और Motapa कम करने में मदद मिलेगी।

स्मूदी : संभव हो तो दिन की शुरुआत Fruits की स्मूदी के साथ करें। खासकर, तरबूज की स्मूदी का सेवन करना चाहिए। तरबूज में पर्याप्त मात्रा में पानी(Water) होता है। इसे खाने के बाद पेट भरा रहता और कुछ खाने का मन नहीं करता। ऐसे में जब आप खाना नहीं खाएंगे, तो संभव है कि पेट की चर्बी(Pet ki Charbi) कम होगी।

पूरी नींद : चर्बी को कम(Charbi Ko Kam) करने के लिए पूरी नींद सोना भी जरूरी है। हर किसी को 7- 8 घंटे की नींद लेनी ही चाहिए। कम या ज्यादा सोना, दोनों ही वजन बढ़ाने(Weight Increase) के लिए अहम कारण हैं। कहा भी जाता है कि अगर आप पूरी नींद सोते हैं, तो पाचन तंत्र(Digestive System) अच्छे से काम करता है और भोजन को पचाता है।

कमर या फिर पेट पर जमा चर्बी(Charbi), ऐसी समस्या नहीं है कि उसे दूर न किया जा सके। बस जरूरत है, तो तय दिनचर्या का पालन करने और नियमित व्यायाम(Regular Exercise) करने की। हां, अगर किसी का वजन(Weight) जरूरत से कहीं ज्यादा है, तो इस लेख में बताए गए उपायों के साथ-साथ Doctors से चेकअप करवाना भी जरूरी है। धन्यवाद
Pet aur Kamar ki Charbi kam Karne ke Upay in Hindi Pet aur Kamar ki Charbi kam Karne ke Upay in Hindi Reviewed by Beautyhealthcares on January 02, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.