World Health Organization Warning for Coronavirus

WHO ने युवाओं को दी Warning- 'आपको नहीं छूएगा Coronavirus, इस गलतफहमी में हरगिज न रहें!

World Health Organization Warning for Coronavirus

World Health Organization(WHO) की तरफ से शुक्रवार को उन तमाम युवाओं को एक बड़ी चेतावनी दी गई है, जो यह मानकर चल रहे हैं कि वे Coronavirus से पूरी तरह से सुरक्षित हैं। WHO(World Health Organization) की तरफ से यह Warning ऐसे समय में आई है जब पूरी दुनिया में जानलेवा वायरस COVID-19 की वजह से मृतकों का आंकड़ा 11,000 को पार कर गया है। WHO ने साफ-साफ कहा है कि युवा इस मुगालते में हरगिज न रहें कि उन्‍हें यह महामारी छू भी नहीं सकती है। आपको बात दें कि अभी तक COVID-19 का सबसे बुरा असर ऐसे लोगों पर देखा गया है जिनकी उम्र 60 साल से ज्‍याद है।
Read:- what is corona virus and its symptoms

वृद्धों पर ज्‍यादा असर, मगर युवा भी रहें सचेत


WHO के चीफ टेडरॉस एडहानोम घेब्रेसिस ने शुक्रवार को Video Conferencing के जरिए हुई प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कई अहम बातें कहीं।
उन्‍होंने कहा कि भले ही अभी तक इस महामारी की चपेट में आने वाले वृद्धों की संख्‍या सबसे ज्‍यादा हो और अभी तक युवाओं पर उतना असर नहीं पड़ा है, मगर इसके बाद भी यह नहीं भूलना चाहिए कि Hospital में भर्ती सबसे ज्‍यादा संख्‍या युवाओं की है। उन्‍होंने कहा कि पीढ़ियों के बीच समनव्‍यता के साथ ही इस बीमारी को मात दी जा सकती है। Tedros के शब्‍दों में, 'आज मैं युवाओं को यह संदेश देना चाहता हूं: आप अजेय नहीं हैं। इस Virus की वजह से आप कई हफ्तों तक आपको Hospital में रहने को मजबूर होना पड़ सकता हैं और यहां तक कि आपकी मौत(Death) भी हो सकती है।'

इटली के Hospitals में भर्ती हैं कई युवा


उन्‍होंने आगे कहा, 'यहां तक कि अगर आप बीमार नहीं पड़ते हैं तो भी आप कहीं आने-जाने से जुड़े जो फैसले ले रहे हैं वे किसी की जिंदगी और मौत के बीच में बड़ा अंतर पैदा कर सकते हैं। मैं कई युवाओं का शुक्रगुजार हू कि वह वायरस की जगह इससे जुड़ी अहम जानकारियों को फैला रहे हैं।' डब्‍लूएचओ के इमरजेंसी डायरेक्‍ट माइकल रेयान ने कहा था कि इटली में आज हालात यह हैं कि अस्‍पतालों की Intensive Care Unit (ICU) में हर तीन में से दो मरीजों की उम्र 70 साल से कम है। WHO ने कहा थोड़ी राहत की बात यह है कि वुहान जहां से वायरस निकला था, वहां पर कोई भी नया केस नहीं आया है। इससे दुनिया को इस महामारी से जूझने में नई उम्‍मीद मिली है।

Social नहीं Physical Distancing की जरूरत

संगठन के मुखिया ने इसके साथ ही 'सोशल डिस्‍टेसिंग' की जगह 'फिजिकल डिस्‍टेसिंग' शब्‍द का प्रयोग किया। टेडरॉस ने कहा कि वह इस शब्‍द का प्रयोग इसलिए कर रहे हैं ताकि दो लोगों के बीच में इतनी दूरी हो कि Virus फैलने से रूक सके। उन्‍होंने कहा कि लोगों को आइसोलेशन में जाने की जरूरत है मगर उन्‍हें सामाजिक तौर पर आइसोलेशन की जरूरत बिल्‍कुल नहीं थी। उन्‍होंने कहा कि ऐसी संकट की स्थिति में तनावपूर्ण, कनफ्यूज और डरा हुआ महसूस करना सामान्‍य हैं। ऐसी स्थिति में आपको ऐसे लोगों से बात करनी चाहिए, जो इस बारे में जानते हैं।

11,402 लोगों की हो चुकी है मौत

December 20019 में वुहान से निकला Virus आज दुनियाभर में 11,402 लोगों की जिंदगियां लील चुका है। 275,997 लोग इससे संक्रमित हैं तो 91,952 लोग ठीक हो चुके है। यह पहला मौका है जब वुहान में कोरोना के जीरो केस दर्ज हुए हैं। WHO के मुताबिक यह पहली बार है जब वुहान में कोई केस Report नहीं हुआ है। लेकिन फिर भी उन्‍होंने सावधानी(Caution) बरतने के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने कहा है कि जिस तरह से कई शहरों और देशों ने Virus को शिकस्‍त दी है, उसके बाद बाकी देशों को हिम्‍मत मिली है। हालांकि उन देशों को लेकर चिंताएं जताईं जहां पर स्‍वास्‍थ्‍य तंत्र कमजोर है और आबादी ज्‍यादा है।
World Health Organization Warning for Coronavirus World Health Organization Warning for Coronavirus Reviewed by Beautyhealthcares on March 21, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.